Insurance Kya Hai – यह कितने प्रकार के होते है (Insurance in Hindi)

क्या आप जानते हैं कि Insurance क्या है? (What is Insurance in Hindi)और यह कितने प्रकार का होता है(How Many Types of Insurance in Hindi)| क्या हम सभी को अपने वाहन, घर, स्वास्थ्य, जीवन, शिक्षा आदि का बीमा करवाना चाहिए? अगर आपके मन में बीमा को लेकर कोई शंका है। तो आप इस पोस्ट को शुरू से अंत तक जरूर पढ़े। इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप जान पाएंगे कि आपको बीमा क्यों लेना चाहिए।

Insurance कितने प्रकार का होता है? Life, Health, Education, Home, Travels और Vihcles Insurance क्या होता है| बीमा क्या होता है और बीमा क्लेम कैसे करे|

भविष्य में किसी भी तरह के नुकसान की संभावना से बचने के लिए बीमा एक अच्छा तरीका है। हम नहीं जानते कि कल क्या होने वाला है। इसलिए हमें भविष्य में संभावित नुकसान को कवर करने के लिए बीमा मिलता है। अगर आपने अपनी कार, दुकान और स्मार्टफोन का बीमा कराया है। तो अगर वह चीज टूट जाती है, टूट जाती है, खो जाती है या खराब हो जाती है। बीमा कंपनी अपने मालिक को पूर्व निर्धारित शर्त के अनुसार मुआवजा देती है।

आप सभी इस बात से अवगत होंगे कि मनुष्य का जीवन और संपत्ति दोनों ही मृत्यु, अक्षमता और बर्बादी से घिरे हुए हैं। अब उसका क्या होगा यह कोई नहीं जानता। यदि आपके साथ कोई दुर्घटना होती है तो आपको आर्थिक नुकसान हो सकता है। इस समय बीमा व्यक्ति के लिए बहुत उपयोगी होता है, जिससे कुछ आर्थिक नुकसान की भरपाई की जा सके।

आप सभी जानते हैं कि कुछ साल पहले एक व्यक्ति जीवन बीमा में इतना विश्वास नहीं करता था। लेकिन 2019 में कोरोना वायरस और डेल्टा प्लस वेरिएंट की वजह से लाखों लोगों की जान चली गई . जिसमें से कुछ घरों की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई थी। लेकिन जिन लोगों ने अपने परिवार की देखभाल करते हुए जीवन बीमा करवाया था। उन्हें बीमा कंपनी द्वारा एक निश्चित राशि दी गई थी।

बीमा कैसे प्राप्त करें और यह क्या है, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। इससे आपको बीमा की पूरी जानकारी मिल जाएगी। और आप अपने लिए, अपने परिवार, कार आदि के लिए बीमा के महत्व को समझने के लिए समाज को पाएंगे।

एक बार जरूर देखे:-

बीमा क्या है? – Insurance Kya Hai

बीमा का अर्थ आने वाले खतरों से रक्षा करना है, अर्थात अपने जीवन और संपत्ति के जोखिम को कवर करना है। और यह एक तरह का कानूनी समझौता है जो दो लोगों के बीच किया जाता है। पहली वह कंपनी जिससे आप बीमा पॉलिसी लेते हैं और दूसरा आप।

इसमें बीमा कंपनी आपसे वादा करती है कि अगर कुछ भी अनहोनी हुई तो कंपनी उसकी भरपाई करेगी। और अगर आपको कोई नुकसान होता है तो कंपनी उसकी भरपाई करती है।

उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि आपने कार का बीमा करवाया है और आपका कोई दुर्घटना या कार चोरी हो गई है। तो ऐसे में इंश्योरेंस कंपनी आपको रिपेयर करने के लिए कार देती है या फिर आपको नई कार देती है। यह सब बीमा लेते समय कंपनी की पॉलिसी में लिखा होगा।

ऐसी घटनाओं को आकस्मिकता कहा जाता है। क्योंकि इन घटनाओं का कोई अधिकार नहीं है कि वे कब होने वाली हैं। इसमें बीमा कंपनी को सभी नुकसान की भरपाई करनी होती है। जैसे उसने सौदा करते समय आपसे वादा किया था।

बीमा के प्रकार – (Types of Insurance in Hindi)

अब हम जानेंगे कि Insurance कितने प्रकार के होते हैं(Insurance kitne trh ke hote hai)। वैसे तो इसके कई प्रकार होते हैं लेकिन आज हम कुछ महत्वपूर्ण प्रकार के बीमा के बारे में जानेंगे।

  1. जीवन बीमा
  2. स्वास्थ्य बीमा
  3. गृह बीमा
  4. शिक्षा बीमा
  5. वाहन बीमा
  6. यात्रा बीमा

Life Insurance – जीवन बीमा

जीवन बीमा जैसा कि इसके नाम से पता चलता है कि यह जीवन भर के लिए किया जाता है। आप सभी जीवन बीमा खरीदते हैं ताकि आपकी मृत्यु के बाद आपका परिवार किसी और पर निर्भर न रहे। आप जिस भी कंपनी की जीवन बीमा पॉलिसी लेते हैं, वह कंपनी आपकी मृत्यु के बाद आपके परिवार को एक निश्चित राशि प्रदान करती है।

जिससे आपके परिवार को आर्थिक सहयोग मिलता है और परिवार दूसरों पर निर्भर नहीं रहता है। जीवन बीमा उन्हीं लोगों को करना चाहिए जिनके परिवार में केवल एक कमाने वाला व्यक्ति हो। क्योंकि अगर किसी कारण से उस व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो उस परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो जाती है। अगर उस परिवार के मुखिया ने पालिसी लगवाई है। इसलिए उनकी मृत्यु के बाद, कंपनी द्वारा उनके परिवार को वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाती है।

जीवन बीमा एक बीमा कंपनी और एक बीमाधारक के बीच किया गया अनुबंध है। जीवन बीमा करवाने से बीमित व्यक्ति के साथ किसी प्रकार की दुर्घटना हो जाती है। तो बीमा कंपनी उसके परिवार के सदस्यों को एक निश्चित राशि प्रदान करती है। इसके लिए सीमित अवधि के लिए एक छोटी राशि का नियमित भुगतान करना होगा। जीवन बीमा पॉलिसी परिवार के लिए सुरक्षा कवच का काम करती है।

Health Insurance – स्वास्थ्य बीमा

स्वास्थ्य बीमा चिकित्सा उपचार की लागत को कवर करने के लिए किया जाता है। बीमार होने से पहले आपको स्वास्थ्य बीमा लेना होगा। अगर आप बीमार हैं और आपके इलाज पर लाखों रुपये खर्च किए जा रहे हैं। तो आपको वह सारा पैसा अपनी जेब से खर्च करना होगा।

लेकिन अगर आपके पास स्वास्थ्य बीमा है, तो आपके चिकित्सा उपचार पर जितना पैसा खर्च होता है। वह सारा पैसा बीमा कंपनी देती है। लेकिन कंपनी इलाज के समय उतनी ही राशि का भुगतान करती है जितनी आपको स्वास्थ्य बीमा मिला है।

संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, फ्रांस आदि जैसे कई देश हैं जहां सभी लोगों को स्वास्थ्य बीमा मिलता है। ताकि अगर वह ज्यादा बीमार हो जाए तो इससे उसके परिवार की आर्थिक स्थिति पर असर न पड़े। फ्रांस, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा जैसे कई देश हैं जहां स्वास्थ्य बीमा को अधिक महत्व दिया जाता है।

कई प्रकार की स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियां ​​भी हैं जो विभिन्न बीमारियों और तत्वों को कवर करती हैं। आप एक सामान्य स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी भी ले सकते हैं। जिसमें सभी तरह के इलाज, अस्पताल में भर्ती होने और दवा का खर्चा शामिल है।

आपका और आपके परिवार के हर सदस्य का स्वास्थ्य बीमा होना चाहिए। क्योंकि बीमारी कभी बताने से नहीं आती और आज के दौर में कोई न कोई बीमारी तो होती ही रहती है. जैसे अभी कोरोना वायरस अमेरिका यूएसए फ्रांस चीन भारत समेत सभी देशों में फैला हुआ है।

इससे करोड़ों लोगों का स्वास्थ्य बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इसलिए हर व्यक्ति को अपने परिवार की सुरक्षा के लिए स्वास्थ्य बीमा करवाना चाहिए। ताकि परिवार का कोई सदस्य बीमार हो जाए तो उसे ज्यादा पैसे खर्च नहीं करने पड़ते।

Home Insurance – गृह बीमा

अपना घर बनाना हर किसी का सपना होता है और घर बनाने के लिए इंसान अपने जीवन में काफी मेहनत करता है। लेकिन घर बनाने के बाद उसे होम इंश्योरेंस जरूर लेना चाहिए। क्योंकि बाढ़ भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदाओं से जान-माल का काफी नुकसान होता है। और ऐसी आपदाएं बताने से कभी नहीं आती। और जब भी आती है तो चारों तरफ तबाही का मंजर नजर आता है।

कभी-कभी भूकंप और बाढ़ बड़ी इमारतों और घरों को काफी नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे में उस नुकसान से बचने के लिए सभी को होम इंश्योरेंस जरूर लेना चाहिए।

अमेरिका में ज्यादातर लोग अपने घरों का बीमा करवाते हैं। क्योंकि यह आपके घर के लिए सुरक्षा कवच की तरह है। इससे न सिर्फ घर सुरक्षित रहता है बल्कि निजी चीजों को भी नुकसान नहीं पहुंचता है। ऐसा नहीं है कि कोई भी गृह बीमा बाढ़ और प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को कवर करता है। इसमें वह सब कुछ शामिल है जो आपके घर को नुकसान पहुंचा सकता है।

अगर आपने घर बनाया है और आपके घर को किसी भी तरह का नुकसान होता है। उदाहरण के लिए, आग या प्राकृतिक आपदा, या अन्य चीजों के मामले में, आपको कंपनी द्वारा मुआवजा दिया जाता है।

Education Insurance – शिक्षा बीमा

शिक्षा बीमा आपके बच्चों की उचित शिक्षा के लिए पैसे जमा करने के लिए है। और आपको सही समय पर एकमुश्त राशि के रूप में पैसा मिल जाता है। अपने बच्चों की उचित शिक्षा के लिए बहुत से लोग शिक्षा बीमा करवाते हैं।

शिक्षा बीमा सभी बच्चों के माता-पिता द्वारा किया जाना चाहिए क्योंकि यह बच्चों की उच्च शिक्षा की सुविधा प्रदान करता है। बच्चा जब सबसे छोटे से बड़ा होता है तो कॉलेज में प्रवेश लेता है। और बड़े कोर्स करता है जिसके लिए ज्यादा पैसे की जरूरत होती है। अगर आपने शिक्षा बीमा करवाया है तो उस समय आपको ज्यादा परेशानी नहीं होगी। और आप बहुत ही आसानी से अपने बच्चों को उच्च शिक्षा दिला सकते हैं।

Vehicle Insurance – वाहन बीमा

वाहन बीमा में कार, बस, बाइक, ट्रक आदि शामिल हैं। क्योंकि ये सभी एक ही प्रकार के विकल्प हैं, सभी को वाहन बीमा प्राप्त करना चाहिए। क्योंकि परेशानी कभी यह कहने से नहीं आती है कि आए दिन वाहन दुर्घटनाएं होती रहती हैं। इससे आपके वाहन को भारी नुकसान हो सकता है, जिससे बचने के लिए सभी लोगों को अपने वाहन का बीमा करवाना चाहिए।

इसका सबसे बड़ा फायदा हमें तब मिलता है जब प्राकृतिक आपदाओं के कारण हमारा वाहन क्षतिग्रस्त हो जाता है। और जब वाहन चोरी हो जाते हैं तो ऐसे समय में वाहन बीमा बहुत उपयोगी होता है।

संयुक्त राज्य अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, कनाडा, दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों में सभी लोग अपने वाहनों का बीमा करवाते हैं। क्योंकि वे जानते हैं कि वाहन दुर्घटनाएं कभी भी हो सकती हैं या वाहन चोरी हो सकते हैं। इसके लिए आपको अपने वाहन के सभी दस्तावेज चाहिए। यदि आपके पास वाहन नीति है। इसलिए यदि आपका वाहन क्षतिग्रस्त और चोरी हो जाता है, तो कंपनी द्वारा आपके नुकसान की भरपाई की जाती है।

Travel Insurance – यात्रा बीमा

अगर आपको ऑफिस के काम के लिए बार-बार यात्रा करनी पड़ती है। या फिर अगर आप घूमने के शौकीन हैं तो आपको ट्रैवल इंश्योरेंस के बारे में जरूर पता होना चाहिए। अगर आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो आपको पहले ट्रैवल इंश्योरेंस करवाना चाहिए। क्योंकि जिस तरह से स्वास्थ्य बीमा के लिए जीवन बीमा जरूरी है। उसी तरह ट्रैवल इंश्योरेंस हमारे जीवन के लिए भी उतना ही जरूरी है।

यात्रा बीमा में यदि आपको किसी भी प्रकार की दुर्घटना, दुर्घटना, स्वास्थ्य समस्या, सामान की चोरी, या कोई उड़ान छूट जाती है, जो एक समस्या है। तो इस समय ट्रैवल इंश्योरेंस कंपनी आपको उचित मुआवजा देती है। बीमा केवल यात्रा के लिए ही नहीं बल्कि घरेलू यात्रा के लिए भी है। आजकल ज्यादातर लोग अपने डेली रूटीन में कहीं न कहीं घूमने जाते हैं। ऐसे में आपको यात्रा बीमा करवाना चाहिए ताकि आपके साथ कोई अनहोनी न हो।

विदेशों के लोगों को अधिक यात्रा बीमा मिलता है। क्योंकि उन्हें एक देश से दूसरे देश की यात्रा करने की अधिक चिंता होती है। या एक व्यक्ति जिसे अपने व्यवसाय के लिए एक शहर से दूसरे शहर या एक देश से दूसरे देश जाना पड़ता है। ऐसे व्यक्ति के पास यात्रा बीमा अवश्य होना चाहिए। यह नीति फिलीपींस, स्पेन, दक्षिण कोरिया, ब्राजील, दुबई, वियतनाम आदि देशों में अधिक ली जाती है।

बीमा क्लेम कैसे करें

यदि आप नहीं जानते कि बीमा क्लेम कैसे करना है । तो अब हम जानते हैं कि बीमा का दावा कैसे किया जाता है।

  • आपको सबसे पहले अपनी बीमा पॉलिसी के खिलाफ अपना दावा करना होगा।
  • अब आपको अपने नुकसान के बारे में सभी विवरण प्रदान करने होंगे जो आपको हुए हैं। यह बीमा से बीमा में भिन्न होता है।
  • फिर आपको अपने नुकसान, नुकसान, अस्पताल में भर्ती होने आदि के सभी बिल/प्रूफ जमा करने होंगे।
  • अब आपका काम यहीं खत्म होता है, अब बीमा कंपनी आपके क्लेम को वेरिफाई करेगी।
  • वहीं अगर आपका दावा सही साबित होता है तो आपको अपने नुकसान के हिसाब से क्लेम की गई रकम मिल जाती है।

बीमा के लाभ

अगर आप बीमा कराना चाहते हैं तो आपको इसके फायदों के बारे में जरूर पता होना चाहिए। बीमा किसी भी व्यक्ति, पारिवारिक व्यवसायी, व्यवसाय के साथ-साथ समाज को भी बहुत सारे लाभ प्रदान करता है। अब हम जानते हैं कि बीमा के क्या फायदे हैं।

  • व्यवसाय को आसानी से आगे बढ़ाने में बीमा कंपनी का बड़ा हाथ होता है। क्योंकि इससे कंपनी का घाटा बंट जाता है।
  • बीमा लेने से व्यापार में जोखिम बहुत कम होता है। जिससे आप आसानी से इंटरनेशनल मार्केट में ट्रेड कर सकते हैं।
  • अगर आपने कोई पॉलिसी ली है तो आप बीमा कंपनी से लोन ले सकते हैं। इसके लिए कंपनी आपकी पॉलिसी को कोलैटरल के हिसाब से रखती है।
  • अगर आपके परिवार के मुखिया की मृत्यु होने वाली है और उस व्यक्ति का जीवन बीमा है। तो उस परिवार के लोगों को पॉलिसी द्वारा तय की गई आर्थिक सहायता राशि मिलती है।
  • बीमा लेने के लिए हमें हर साल कुछ पैसे जमा करने पड़ते हैं। जिससे हमें बचत करने की आदत हो जाती है।
  • यह उन लोगों के जोखिम को कम करता है जो अन्यथा उनके लिए बड़ा नुकसान कर सकते थे।
  • किसी भी अप्रिय घटना को पूरी तरह से कवर करना संभव नहीं है, लेकिन इसके माध्यम से हम कुछ हद तक क्षतिपूर्ति कर सकते हैं।

बीमा अधिनियम 1938

Insurance क्यों जरुरी है

सुरक्षा और सुरक्षा: बीमा आपको वित्तीय सहायता प्रदान करता है जो कुछ हद तक नुकसान को कवर कर सकता है। इसके साथ ही यह व्यापार और जीवन को सुरक्षा और सुरक्षा प्रदान करता है।

वित्तीय संसाधन उत्पन्न करता है : वित्तीय संसाधन धन उत्पन्न करते हैं और प्रीमियम एकत्र करते हैं। और इन फंडों को सरकारी प्रतिभूतियों और शेयर बाजार में निवेश किया जाता है। इस तरह के फंड का इस्तेमाल देश के औद्योगिक विकास में किया जाता है।

जीवन बीमा बचत को बढ़ाता है: बीमा न केवल अनिश्चितताओं और जोखिमों से बचाता है। इसके साथ ही जीवन बीमा हमें व्यवस्थित बचत करने में सक्षम बनाता है।

चिकित्सा सहायता: स्वास्थ्य के जोखिम को प्रबंधित करने के लिए, चिकित्सा बीमा प्राप्त करना बहुत महत्वपूर्ण है। हम नहीं जानते कि हम कब बीमार होने वाले हैं यदि हम बीमार हो जाते हैं और आपके पास चिकित्सा बीमा है। इसलिए कंपनी आपके खर्चों को कवर करती है ताकि आपको आर्थिक मदद मिले।

जोखिम फैलाना: इससे हमारे बड़े नुकसान होने की संभावना कम हो जाती है और यह हमारे जोखिम को फैलाने में मदद करता है।

सोर्स ऑफ फंड्स कलेक्ट: फंड इकट्ठा करने के लिए यह एक बहुत अच्छा स्रोत है। इस फंड का इस्तेमाल देश के आर्थिक विकास के लिए किया जाता है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

बीमा का क्या अर्थ है?

बीमा बीमा कंपनी और बीमाधारक के बीच एक अनुबंध है। भविष्य में नुकसान की संभावना से निपटने के लिए बीमा एक प्रभावी हथियार है। इस अनुबंध के तहत बीमा कंपनी बीमाधारक से एक निश्चित राशि लेती है। और पॉलिसी की शर्तों के अनुसार किसी भी नुकसान की स्थिति में बीमित व्यक्ति या कंपनी को क्षतिपूर्ति करता है।

बीमा कितने प्रकार के होते है?

बीमा कई प्रकार के होते हैं, लेकिन हम उन नीतियों के बारे में जानेंगे जिनका सबसे अधिक उपयोग किया जाता है। जैसे स्वास्थ्य बीमा, जीवन बीमा, वाहन बीमा, शिक्षा बीमा, यात्रा बीमा, गृह बीमा आदि।

बीमा कितना पुराना है?

बीमा आपकी मृत्यु के बाद जोखिम को कवर करता है। दुर्घटना के कारण बीमित व्यक्ति की मृत्यु के मामले में, बीमित राशि का भुगतान परिवार या नामांकित व्यक्ति को एकमुश्त किया जाता है। ये प्लान आमतौर पर 85 साल की उम्र तक होते हैं।

सबसे अच्छा बीमा कौन सा है?

SBI Life eShield सबसे शुद्ध टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी है जो किफ़ायती प्रीमियम पर कई तरह के लाभ प्रदान करती है।

Leave a Comment