रक्षा बंधन शुभ मुहूर्त 2022 | Raksha Bandhan Shubh Muhurat Kitne Bje Hai | रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त कितने बजे से कितने बजे तक है?

“रक्षा बंधन” (Raksha Bandhan Muhurat 2022 Hindi) त्यौहार सुरक्षा के पवित्र धागे का नाम है जिसे बहनें परंपरागत रूप से अपने भाइयों की दाहिनी कलाई के चारों ओर बांधती हैं। (Rakhi Bnadhne ka Shubh Muhurat) रक्षा बंधन एक खुशी का त्योहार है जो सभी भाइयों और बहनों के बीच महान संबंधों का जश्न मनाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, यह सावन के महीने में पूर्णिमा के दिन (पूर्णिमा) को होता है।

रक्षाबंधन (Raksha Bandhan Kab Hai) कब है, और रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त (Raksha Bandhan Shubh Muhurat 2022) क्या है? इस सवाल पर अभी हर कोई सोच रहा है। दरअसल, इस साल रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) की तारीख को लेकर कुछ भ्रम है क्योंकि आमतौर पर रक्षाबंधन श्रावण पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है, लेकिन इस साल सावन पूर्णिमा दो अलग-अलग दिनों में है। इनमें पहले दिन भद्रा भी रखी जाती है जब राखी (Rakhi) का त्योहार मनाना अशुभ होता है। ऐसे में ज्योतिषी और धार्मिक लोग रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त (रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त कितने बजे से कितने बजे तक है?) क्या सोचते हैं? आईये जानते है

रक्षा बंधन शुभ मुहूर्त 2022 | Raksha Bandhan Shubh Muhurat Kitne Bje Hai | Rakhi Shubh Muhurat | रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त कितने बजे से कितने बजे तक है? | Rakhi Bandhte Samay Konsa Mantra Bole? | राखी बांधते समय किस मंत्र का उच्चारण करे?

एक बार जरूर देखे:- Information about Rakhi festival Hindi | राखी पर्व की जानकारी हिंदी में Raksha Bandhan – Rakhi 2022

  • Raksha Bandhan Shubh Muhurat 2022 in Hindi | राखी बांधने का शुभ मुहूर्त कितने बजे का है? |
  • Rakhi Shub Muhurat Kab Hai | Rakhi Shubh Muhurat 2022 | रक्षाबंधन पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त कब से कब तक है?
  • Raksha Bandhan 2022 Date | 2022 में रक्षाबंधन / राखी कब है | Raksha Bandhan Kaun se Din Hai

Raksha Bandhan Shubh Muhurat 2022 | रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त 2022

11 अगस्त 2022, को रक्षाबंधन (Raksha Bandhan Rakhi Shub Muhurat 2022) मनाने का सबसे शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat Rakhi) अच्छा समय सुबह होगा। इस दिन सुबह 10:38 से रात 9 बजे तक राखी बांधने का शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat Rakhi Bandhne ka) रहेगा। 12:06 से 12:57 बजे तक अभिजीत मुहूर्त प्रभावी रहेगा। अमृत काल भी शाम 6:55 से 8:20 बजे तक रहेगा।

Raksha Bandhan Date 2022 | रक्षाबंधन की तारीख 2022 | Raksha Bandhan Kaun se Din Hai

Raksha Bandhan 2022 Date:सावन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को प्रातः 10:38 बजे से प्रारंभ होकर 12 अगस्त को प्रातः (सुबह) 7:05 बजे तक चलेगी। ऐसे में उदय तिथि 12 अगस्त को है, अर्थात रक्षा बंधन 12 अगस्त को भी होगा। ज्योतिषियों का कहना है कि रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) मनाने का सबसे अच्छा दिन 11 अगस्त है क्योंकि उस समय चंद्रमा पूर्ण होगा। ऐसे में गुरुवार 11 अगस्त 2022 को रक्षा बंधन मनाया जाएगा।

Raksha Bandhan का पारंपरिक तरीका

  • राखी (Rakhi) बांधते समय भाई का मुख हमेशा पूर्व की ओर होना चाहिए और बहन का मुख हमेशा पश्चिम की ओर होना चाहिए। जब आप ऐसा करेंगे तो देवता भी आपकी राखी पर कृपा करेंगे।
  • राखी बांधते समय भाइयों को अपने सिर पर रुमाल या कोई अन्य साफ कपड़ा रखना चाहिए।
  • भाई की दाहिनी कलाई पर राखी बांधें और फिर उसके माथे पर चंदन और रोली का तिलक लगाएं।
  • तिलक लगाने के बाद कुछ अक्षत लगाएं और कुछ भाई पर आशीर्वाद के रूप में छिड़कें।
  • उसके बाद दीये से आरती उतारें और बहन-भाई को एक-दूसरे को मिठाई खिलाएं ताकि उनका मुंह मीठा हो जाए।
  • भाई को बहन के सुखी जीवन की कामना के लिए उसे कपड़े, आभूषण, पैसे या कोई अन्य उपहार देना चाहिए।

रक्षाबंधन भद्रा काल | Raksha Bandhan Bhadra Time

Raksha Bandhan Bhadra Kal ka Samay: 11 अगस्त को रक्षाबंधन पर्व शाम 5:17 बजे से रात 8:51 बजे तक चलेगा। हिंदुओं का कहना है कि भद्रा काल (Bhadra Time) खराब समय है। हिंदू पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि लंकापति रावण की बहन राखी ने भद्रकाल में अपने भाई की कलाई पर राखी (Rakhi) बांधी थी। इससे एक साल के अंदर ही रावण का वध हो गया। हिंदू धर्म के जानकारों का कहना है कि इसीलिए इस समय राखी नहीं बांधनी बहुत जरूरी है।

Raksha Bandhan Shubh Muhurat का हमारे जीवन में क्या महत्व है?

सफलता तीन चीजों से निर्धारित होती है: मन की एकाग्रता, दृढ़ प्रयास और ईश्वर की इच्छा। तो तीन कारकों में से दो हम पर और एक भगवान पर निर्भर है। सच्चा ‘मुहूर्त’ वह है जब कोई भगवान को याद करता है, और इस प्रकार ज्योतिषियों द्वारा सुझाए गए शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat Raksha Bandhan) भगवान के कानून के खिलाफ नहीं जा सकते। वे केवल संभावित परिवर्तन ला सकते हैं।

किसी विशेष मुहूर्त की गुणवत्ता के आधार पर महत्वपूर्ण धार्मिक समारोहों जैसी गतिविधियों को करने या उनसे बचने के लिए हिंदू धर्म में यह एक आम बात है। ज्योतिषियों द्वारा अनुष्ठान और अन्य समारोहों को करते समय एक या एक से अधिक मुहूर्त की सिफारिश की जाती है। ज्योतिषी धार्मिक गतिविधियों के लिए एक क्षण की गणना करते हैं ताकि किसी भी संभव दैवीय स्रोत से उत्पन्न समस्याओं को टाला जा सके।

यदि कोई कार्य करने योग्य है, तो उसे ठीक से करना चाहिए, अर्थात समय सहित सभी कारक अनुकूल हों। ज्योतिषी एक नेटाल चार्ट के माध्यम से जाते हैं – सफलता की अलग-अलग डिग्री के साथ और शुभ मुहूर्त का सुझाव देते हैं। नए उपक्रमों में वांछित परिणाम प्राप्त करने के लिए, विभिन्न प्रकार के कार्यों के लिए अलग-अलग फ्रेम तय किए जाते हैं, जिसके लिए पंचांग, ​​तिथि, वार, नक्षत्र, करण और योग का संयोजन माना जाता है।

Raksha Bandhan Shubh Muhurat परिस्थितियों को नहीं बदल सकता, लेकिन यह दिशाओं को बदलने में सक्षम है। इस दृष्टि से मुहूर्त का हमारे जीवन में बहुत महत्व रहा है। स्वास्थ्य, लंबी आयु, समृद्धि, व्यापार में वृद्धि, वरिष्ठों से अनुग्रह, पदोन्नति, शिक्षा, बुद्धि में वृद्धि, शत्रुओं पर विजय, सुखी वैवाहिक जीवन और संतान आदि के लिए शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat) निर्धारित किया जाना चाहिए।

Rakhi Bandhte Samay Konsa Mantra Bole? | राखी बांधते समय किस मंत्र का उच्चारण करे?

Rakhi Bandhte Samay Konsa Mantra Bolna Chaheye: सनातन धर्म में बहुत सारे रीति-रिवाज और मान्यताएं हैं जो धार्मिक और वैज्ञानिक दोनों हैं, और वे आज भी बहुत सटीक हैं। मौली को ढाल बनाने के लिए उसके पूरे शरीर पर भी बांधा गया है। मौली को शक्ति, विश्वास और सुरक्षा के प्रतीक के रूप में देखा जाता है।

धार्मिक ग्रंथों में कहा गया है कि मौली को बांधने से त्रिदेव (ब्रह्मा, विष्णु और महेश) और त्रिदेवियों (लक्ष्मी, पार्वती और सरस्वती) की अनंत कृपा प्राप्त हो सकती है। भगवान ब्रह्मा की कृपा से, विष्णु की कृपा से कीर्ति की रक्षा होती है, और भगवान शिव बुरी चीजों को नष्ट कर देते हैं। राखी बांधते (Rakhi Bandhte) समय भी लोग इस मंत्र का उच्चारण करते हैं:

येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:।

तेन त्वामनुबध्नामि रक्षे मा चल मा चल।।

अगले 5 वर्षों के लिए रक्षा बंधन की तारीख | Next 5 years Raksha Bandhan Date

वर्षतारीख
202330 August
202419 August
20259 August
202628 August
202717 August

FAQs Regarding Raksha Bandhan Shubh Muhurat 2022

2022 में रक्षा बंधन की तिथि क्या है?

रक्षा बंधन 2022 गुरुवार 11 अगस्त को मनाया जाएगा।

राखी के लिए कौन सा समय सबसे अच्छा है?

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त (Raksha Bandhan Shubh Muhurat 2022) रात 08:51 बजे से शुरू होकर 11 अगस्त को रात 09:13 बजे समाप्त होगा। ऐसा माना जाता है कि राखी बांधने का सबसे अच्छा समय दोपहर बाद तक “अपराहन” है।

राखी (Rakhi) बांधने से आपको किस समय बचना चाहिए?

भाद्र काल के दौरान भाई को राखी बांधने से बचना चाहिए क्योंकि यह अशुभ होता है।

पूजा की थाली में कौन सी चीजें रखनी चाहिए?

पूजा की थाली में फूल, मिठाई, रोली, राखी, चावल और दीया रखना चाहिए।

राखी (Rakhi) बांधने की रस्म के दौरान भाई को किस दिशा में मुंह करना चाहिए?

राखी बांधने की रस्म के दौरान भाई को पूर्व दिशा का सामना करना चाहिए।

निष्कर्षToday Raksha Bandhan Shubh Muhurat Today 2022

रक्षा बंधन (Raksha Bandhan) का त्योहार सामाजिक-आध्यात्मिक महत्व के साथ एक संदेश देता है, सकारात्मक गुणों की खेती के महत्व पर जोर देता है, और विचार, शब्द और कर्म में शुद्धता है। आज आपने Raksha Bandhan Shubh Muhurat 2022 (रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त 2022), राखी बांधते समय कोनसा मंत्र बोले, रक्षाबंधन भद्रा काल के बारे में जाना। हम उम्मीद करते है की आपको ये लेख आपके लिए मददगार साबित हुआ होगा। आपको ये लेख कैसा लगा निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताये।

Raksha Bandhan Quotes in Hindi | रक्षाबंधन पर्व की शायरी और स्टेटस

  • Raksha Bandhan Best 200+ Quotes in Hindi 2022
  • 150+ हैप्पी रक्षा बंधन शायरी | Happy Raksha Bandhan Shayari
  • रक्षा बंधन की शुभकामनाये (150+ Wishes/Status) 2022
  • Best 100+ रक्षा बंधन पर शायरी (Shayari/Status/Wishes) भाई बहनों के लिए
  • Raksha Bandhan Quotes for Brother – 100+ हिंदी शायरी
  • Best 100+ बहन के लिए रक्षा बंधन शायरी | Rakhi Love Quotes For Sister 2022
  • Raksha Bandhan Quotes For Friend 2022 in Hindi – दोस्त के लिए
  • Raksha Bandhan Status in Hindi | रक्षा बंधन Whats’s App शायरी
  • रक्षा बंधन दर्द भरी शायरी | Rakhi Sad Shayari 2022
  • Paksha Bandhan per Kavita – 10+ रक्षा बंधन पर कविता हिंदी में

2022 ka Raksha Bandhan ka Shubh Muhurt kya he | ज्योतिषियों से जानिए सही तारीख, शुभ मुहूर्त Raksha Bandhan 2022

Home Page (Hindi)Click Here
Home Page (English)Click Here

अधिक जानका

Leave a Comment